पालक मानव के लिए एक अमृत के समान लाभकारी सब्जी है | पालक को आमतौर पर गुणकारी सब्जी माना जाता है क्योंकि पालक में जो गुण पाये जाते है वह किसी और शाक भाजी में नही होते | यही कारण है की पालक स्वास्थ्य की दृष्टि से अत्यंत उपयोगी है , सस्ता है, आसानी से सभी जगह मिलने वाला है | पालक की तासीर शीतल और ठंडी होती है | पालक हीमोग्लोबिन बढ़ाने की दृष्टि से भी बहुत उपयोगी है|इसके अलावा और कई गुण भी है जिनसे सामान्य लोग अनजान है तो आइए आज हम आपको पालक के कुछ ऐसे अद्भूत गुणों से अवगत करवाते है | पालक का रस : कच्चा पालक गुणकारी होता है ,पूरे पाचन तंत्र की प्रणाली को ठीक रखता है| खांसी या फेफड़ो में सूजन हो तो पालक के रस का कुल्ले करने से लाभ होता है | पालक का रस पीने से आँखों की रौशनी बढ़ती है | ताजे पालक का रस रोज पीने से मैमोरी बढ़ती है और इसमें आयोडीन होने की वजह से यह दिमागी थकान से भी छुटकारा दिलाता है | हाइब्लडप्रेशर मे लाभदायक : पालक हमारे शरीर में उन जरुरी तत्वों को संचित करता है ,इसके माध्यम से न सिर्फ शरीर का विकास होता है , बल्कि यह रक्त नलिकाओं को खोलता है , यही कारण है की हाइब्लडप्रेशर के लिए वरदान है | रूखी त्वचा के उपचार में : अगर आप अपनी रूखी त्वचा से परेशान है तो पालक खाएं क्योकि इसमें पानी की मात्रा ज्यादा होती है , जो आपकी त्वचा को नर्म और मुलायम बनाये रखने में सहायता करती है | खून बढ़ाने में सहायक : लौह तत्व मानव शरीर के लिए उपयोगी , महत्वपूर्ण और जरुरी होता है | लौहे की कमी से शरीर में रक्ताणुओं की कमी हो जाती है जिसका प्रभाव नासिका,कानों और आँखों पर पड़ता है |लौहे की कमी से शरीर में दुर्बलता, स्फूर्ति की कमी, यकृत आदि की परेशानियां होती है |पालक खून क रक्ताणुयों को बढ़ाता है | पालक में खून बढ़ाने का गुण ज्यादा है ,यह खून साफ़ करता है | दांतों के लिए : दांतों में पायरिया की बीमारी होने के कारण कुछ दिन रोज प्रातःकाल पालक का रस आधा गिलास खाली पेट ले | इसके अलावा कच्चा पालक चबा-चबा कर खाए | पालक क रस में गाजर का रस मिलाकर पीने मसूड़ों से खून आना बंद हो जाता है और हड्डियों को मजबूत करता है | फेफड़ो के लिए : पालक फेफड़ों की सड़न को दूर करता है , आाँतों के रोग, दस्त आदि में भी लाभदायक है | स्त्रियों के लिए : पालक का सेवन महिलाओं के लिए भी बहुत गुणकारी है. इसका नियमित सेवन करने से रंग में निखार आता है |इसके अतिरिक्त पालक बच्चों, प्रेग्नेंट महिलाओं के काफी उपयोगी है | पालक से होने वाले बच्चे को पोषक खुराक मिलती है, रंग गोरा होता है | पालक के पौष्टिक तत्व 100 ग्राम पालक में 26 किलो कैलोरी उर्जा ,प्रोटीन 2 .0 % ,कार्बोहाइड्रेट 2 .9 % ,नमी 92 %वसा 0 .7 %, रेशा 0 .6 % ,खनिज लवन 0 .7 %और रेशा 0 .6 %होता हैं .पालक में खनिज लवन जैसे कैल्सियम ,लौह, तथा विटामिन ए ,बी ,सी आदि प्रचुर मात्रा में पाया जाता हैं. इसी गुण के कारण इसे लाइफ प्रोटेक्टिव फ़ूड कहा जाता हैं पालक में विटामिन ए,बी,सी,लोहा और कैल्शियम अधिक मात्रा में पाया जाता है। कच्चा पालक गुणकारी होता है।पूरे पाचन-तंत्र की प्रणाली को ठीक करता है|