प्रदूषण स्तर बढ़ने के कारण कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना लोगों को करना पड़ रहा है। आजकल स्मॉग के कारण लोगो को बहुत सी स्वास्थ्य समस्याएं हो रहीं हैं ।यहाँ तक की आंखो में जलन और सांस लेने में भी प्रॉब्लम हो रही है। स्मॉग शब्द स्मोक और फॉग से मिल कर बना है। जो कि जहरीली गैसों से मिलकर बना है।

स्मॉग है क्या?

गाड़ियों और फैक्ट्रियों से निकलने वाली खतरनाक गैस, धुएं और कोहरे के मेल से स्मॉग बनता है। स्मॉग का असर हवा में कई दिनों तक हो सकता है। तेज हवा चलने या बारिश के बाद ही स्मॉग का असर खत्म होता है। स्मॉग वो ज़हर है जो किसी को भी बहुत बीमार बना सकता है। स्मॉग गाड़ियों और फैक्टरियों से निकले धुएं में मौजूद राख, सल्फर, नाइट्रोजन, कार्बन डाई ऑक्साइड और अन्य खतरनाक गैसें जब कोहरे के संपर्क में आती हैं तो स्मॉग बनता है। जो कि कई दिनों तक रहता है।

स्मॉग से होने वाली बीमारियां

खांसी दिल की बीमारी त्वचा सम्बन्धी रोग बालों का झड़ना नाक, कान, गला में इन्फेक्शन सांस लेने में दिक्कत ब्रेन स्ट्रोक कितना खतरनाक है यह स्मॉग: ठंड में जब स्मॉग का मौसम चल रहा होता है तब गाड़ियों के धुंए से हवा में मिलने वाले ये सूक्ष्म कण बहुत बड़ी समस्या खड़ी कर देते हैं|इन सूक्ष्म कणों की मोटाई करीब 2.5 माइक्रोमीटर होती है और अपने इतने छोटे आकार के कारण यह सांस के साथ फेफड़ों में घुस जाते हैं और बाद में हृदय को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं।

ऐसे करें बचाव स्मॉग से

स्मॉग का लेवल इतना बढ़ चुका है कि लोगों ने इसके लिए हर तरीके आजमाना शुरू कर दिया है| सुरक्षा के लिए लोग कम ही घर से बाहर निकल रहे हैं |जो लोग निकल भी रहे हैं वे मास्क या फिर अपनी कार से ही बाहर जा रहे हैं| लेकिन जो लोग एक्सरसाइज करते हैं वे एक दिन भी इसे मिस नहीं करना चाहते हैं |रोज सुबह मास्क लगाकर पार्क में एक्सरसाइज करने जाते ही हैं |लेकिन ऐसा करना भी आपके लिए खतरनाक हो सकता है |यह आपको फिट बनाने की जगह बीमार भी कर सकता है| हम आपको बता रहे हैं कुछ ऐसे तरीकों के बारे में जिनसे आप फिट भी रह सकते हैं और खतरनाक स्मॉग से भी बचा जा सकता है-

एक्सरसाइज के लिए बाहर न जाए

हवा में फैली जहरीली गैसों से बचने के लिए फिलहाल एक्सरसाइज के लिए किसी पार्क या खुली जगह पर जाना बंद करें क्योंकि यहां पर स्मॉग ज्यादा मात्रा में फैला हुआ होता है ।जब आप एक्सरसाइज करते हैं तो सांस लेने की स्पीड भी तेज होती है। ऐसे में जहरीला स्मॉग आपके फेफड़ों तक उतनी ही स्पीड से पहुंचने लगता है इसीलिए कुछ दिनों तक बाहर एक्सरसाइज करने न जाए ।

योगा भी है फायदेमंद

जरूरी नहीं है कि फिजिकल एक्सरसाइज से ही आप फिट रह सकते हैं। आप इसके लिए योगा को भी अपना सकते हैं। योग करने के लिए घर के बाहर जाने की भी जरुरत नहीं । इसलिए योग भी करते रहिये ।

क्या खाएं

स्मॉग से बचने के लिए यह चीजों का सेवन करे जैसे के तुलसी और अदरक की चाय पिएं, ओटमील जरुर खाएं, हल्दी वाला दूध पिएं,सिट्रस फलों को डाइट मे शामिल करें,शहद से अपनी इम्यूनिटी बढाएं,लहसुन का प्रयोग करे, आदि।

बच्चों का रखे खास ख्याल

ऐसे मौसम में बच्चों के लिए भी बाहर जाना काफी खतरनाक हो सकता है, इसीलिए जितना हो सके उन्हें इनडोर गेम्स खेलने के लिए कहें,बच्चे बाहर न भेजे तो बढ़िया रहेगा । इसके अलावा कुछ और बातों का ध्यान भी रखे स्मॉग में - सुबह और शाम के समय बाहर न निकलें। इस समय तापमान कम होता है और स्मॉग सबसे ज्यादा होता है। - घर से बाहर निकलने से पहले अपने फेस को कवर करें। मास्क या फिर रूमाल का इस्तेमाल करें। - अपने घर के आसपास कुछ एेसे पौधे लगाएं जो हवा को शुद्ध करते हो।