इसमें कोई दो राय नहीं है कि प्रोटीन के जो भी सोर्स मौजूद हैं उनमें टॉप पर आते हैं अंडे। इसमें कई खासियतें हैं। एक अंडे के सफेद हिस्से में करीब 5 ग्राम प्रोटीन होता है। इसकी जर्दी में विटामिन ए, बी, सेलेनियम और फास्‍फोरस सहित कई न्यूट्रिएंट्स होते हैं जो हमारी ग्रोथ के लिए जरूरी हैं। ये एक ऐसा फूड है जो वेट लॉस और वेट गेन दोनों में कमाल का रोल अदा करता है। अंडे ऊर्जा देने के अतिरिक्त शरीर को भरा हुआ महसूस करवाते है जिससे आप अत्यधिक भोजन करने से बच जाते है | यह आपके रक्त शर्करा के स्तर में वृद्धि नहीं करते और अंडे में मौजूद प्रोटीन शरीर को भरपूर ऊर्जा प्रदान करता है | अगर आप वजन कम कर रहे है तो आपको अंडो को अपने भोजन में शामिल करना चाहिए ,लेकिन याद रहे की आपको अंडे का सफ़ेद भाग ही खाना है | इस प्रकार अंडे आपको कैलोरी का सेवन नियंत्रित करने में मदद करते है और वजन घटाने के प्रयासों में मदद करते है |

उबले अंडे में ज्यादा प्रोटीन भारत में पुराने पहलवान और पहलवानी से जुड़े लोग आज भी यही कहते हैं कि कच्चे अंडे ज्यादा हेल्दी होते हैं मगर आज जब हम साइंटिफिक रिसर्च के आधार पर परखें तो यह दावा सही नहीं नजर आता। उबला हुआ अंडा वज़न घटाने की प्रक्रिया में सहायता करता है। फैट कम और पौष्टिकता से भरपूर होता है। साथ ही हजम आसानी से हो जाता है| एक रिसर्च की यह बात सामने आई कि हमारा शरीर उबले हुए अंडे को 80% तक एब्जॉर्ब कर लेता है जबकि कच्चे अंडे का सिर्फ 50% ही एब्जॉर्ब हो पाता है बाकी वेस्ट चला जाता है। तो कहने का मतलब ये हुआ कि अगर आपने दो कच्चे अंडे खाए तो आपको एक ही अंडे का प्रोटीन मिला।

कच्चा अंडा कितना फायदेमंद और कितना नहीं बहुत से लोग आज भी कच्चे अंडे पीते हैं। इसकी कई वजह होती हैं, जिनमें से सबसे प्रमुख वजह ये है कि लोग मानते हैं कि कच्चे अंडे पीना हेल्‍थ के लिए ज्‍यादा फायदेमंद है। इसके अलावा कुछ लोग सोचते हैं कि अंडों को उबालना या ऑमलेट बनाने में काफी समय लगता है ऐसे में कच्‍चा ही पी लेना ज्यादा आसान है। जिन लोगों को भी ये लगता है कि कच्चे अंडे ज्यादा बढ़िया हैं और बॉडी उन्हें ज्यादा अच्छे से एबजॉर्ब कर लेती है वो गलत सोचते हैं।

इसके अलावा कच्चे अंडे खाने के अपने नुकसान हैं। सबसे ज्यादा खतरा होता है बैक्टीरिया का। कच्चे अंडों में बैक्टीरिया होते हैं, जो आपको बीमार कर सकते हैं। इसलिए हमारी सलाह यही है कि अंडों को पकाकर ही खाएं। अंडे प्रोटीन का बहुत ही बेहतरीन सोर्स होते हैं और आप जिम जाते या नहीं मगर यह आपकी डाइट का हिस्सा जरूर होने चाहिए। अंडे को जितना पकाएंगे उतना ही इसमें प्रोटीन की मात्रा कम होती जाएगी | लेकिन अगर अंडे को हाफ फ्राई करके खाये तो इसके न्यूट्रियंस बने रहते है |हाफ फ्राई खाने से कई बिमारियों से भी बचा जा सकता है | हाफ फ्राई अंडे में बिटामिन B12 और कोलीन होता है,इससे दिमाग तेज चलता है,मेमोरी बढाती है | इसमें ल्युटिन होता है इससे हेयर फॉल दूर होता है और बालों में चमक आती है| हाफ फ्राई में बायोटिन होता है, इससे स्किन में ग्लो बढ़ता है और रिंकल्स से बचाव होता है | साथ ही आयरन होता है, जो की खून की कमी दूर करने में मदद करता है और एनर्जी बनी रहती है|