खाना भी अपने आप में एक अटूट दिनचर्या है | इसके बिना एक या दो पहर भी काटना मुश्किल है | हमारा शरीर एक लगातार न बुझने वाली ऊर्जा भट्टी है जिसे हर समय खुराक के रूप में लगातार ईंधन चाहिए तथा शरीर में होने वाली ग्रोथ के लिए प्रोटीन जैसे तत्व अति आवश्यक हैं | कार्बोहाइड्रेट ऊर्जा देता है, प्रोटीन शारीरक मांसपेशियां व अंग बनाता है तथा फैट्स (चर्बी) शरीर में एक ऊर्जा का स्टोर बनाती है | यह सारा चक्र चौबीस घंटे, सातों दिन लगातार, बिना रुके चलता जाता है |

यह स्वास्थ्य चक्र तभी रुकता है जब कोई न कोई खाद्य पदार्थों के अनुपात में कोई न कोई खराबी आ जाती है | अगर इन सभी खादय तत्वों के अनुपात व मात्रा में कोई बदलाव आता है तो हमारा शरीर पूरी तरह काम नहीं कर पता जिससे न तो ज्यादा फैट बढ़ती जाती है और शरीर की मांसपेशियां कम होती जाती हैं |

यह एक अटूट सचाई है की थोड़ा सा ज्यादा खाना खाने पर भी आँतों से ढाई तीन घंटे में निकल जाता है, या तो यह खुराक हजम हो जाती है या बिना हजम हुए बिना नीचे पैखाने में चली जाती है | अगर हम एक चपाती थोड़ी दाल, सब्जी व थोड़ा सलाद खाते हैं तो वो धीरे धीरे मुहं से निकल कर आँतों के नीचें धीरे धीरे जाएगा, जबकि अगर हम चार पांच रोटीआं और ज्यादा दाल सब्जी खाते हैं तो वह पहले तो अपने भार से ही जल्दी जल्दी मुहं से नीचे की तरफ जाएँगी और पेट जल्दी खाली हो जायेगा |ऐसा करने से खुराक कम हजम होगी और पेट जल्दी से जल्दी खाली हो जायेगा , और सारा का सारा खाना शौच में निकल जाएगा और हम लगातार मिलने वाली ऊर्जा से वंचित रह जायेंगे |इस लिए हमें तीन-चार घंटे बाद थोड़ा थोड़ा करके संतुलित आहार लेना चाहिए और यह सोच कर खाएं की हम आने वाले तीन चार घंटों के लिए खा रहे हैं न की कल के लिए |बहुत से लोग हैं जो शादी विवाह में इस तरह खाते हैं की यह जिंदगी का आखिरी मौका है और दोबारा शायद मिलने वाला नहीं है |

इस लिए हमें इतना खाना चाहिए की जो हमें अगले तीन चार घंटे के लिए पर्याप्त हों |आम तौर पर ८० किलो वाले पुरुषों को २४ घंटे में २४०० कैलोरीज़ खानी चाहिए, जबकि हर घंटे १०० कैलोरी या फिर हर ३-४ घंटे में ३००-४०० कैलोरीज़ |

इस लिए हमें हर खुराक संतुलित कार्बन्ज़ , प्रोटीन व फैट्स के अनुपात को न बदलते हुए छोटे छोटे मील्स बनाकर सुबह से शाम तक खाने चाहिए और ज्यादा देर भूखे नहीं रहना चाहिए | ऐसा करने से धीरे धीरे आपकी मांसपेशियां बढ़ती जाएँगी और शारीरिक चर्बी कम होती जाएगी | अगर आप निरंतर व्यायाम करते हैं तो ऐसे खाने के तरीके से आपकी सेहत में लगातार सुधार होता जायेगा और आप पहले से मजबूत व ताकतवर होते जायेंगे |

डाक्टर रणधीर हस्तीर